Saturday, April 13, 2024
Home उत्तर प्रदेश गंगा का पानी आचमन तो दूर नहाने लायक भी नहीं : आराधना...

गंगा का पानी आचमन तो दूर नहाने लायक भी नहीं : आराधना मिश्रा मोना

-बोले, गंगापुत्र कहने वाले मोदी ने मां गंगा के साथ किया छल
लखनऊ , एजेंसी : बनारस में गंगा की खस्ताहाल हालत और गंगा जल की गिरती गुणवत्ता को लेकर प्रदेश कांग्रेस विधानमंडल दल की नेता आराधना मिश्रा मोना ने भाजपा और प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि खुद को गंगा मां का बेटा कहने वाले प्रधानमंत्री ने उसे पहले से अधिक बदहाल स्थिति में लाकर खड़ा कर दिया है। गंगा के नाम पर फंड की लूट चल रही है, और रायशुमारी किए बिना गंगा के मूल रूप से छेड़छाड़ की जा रही है।
उन्होंने कहा कि किसी भी प्राकृतिक नदी में बिना स्टडी किए, छेड़छाड़ नहीं करनी चाहिए। गंगा देश के संस्कृति, सभ्यता का प्रतीक हैं, भाजपा के लिए प्रयोग के लिए नहीं है। जनवरी का डाटा है, जहां अस्सी नदी गंगा से मिलती है, वहां प्रति एक सौ एमएल पर 36 मिलियन फिकल कॉलिफोर्म काउंट है, जो स्नान योग्य नदी में प्रति एक सौ एमएल में औसतन 500 होना चाहिए। वरुणा पर यह आंकड़ा 67 मिलियन के करीब है। पानी को साफ करने के लिए दो प्रोजेक्ट लगे हुए हैं, लेकिन वह कारगर नहीं हैं।
कांग्रेस ने नेता ने कहा कि गंगा के लिए संवेदनशीलता के साथ काम होना चाहिए था लेकिन भाजपा सरकार ने गंगा सफाई को अपने प्रचार-प्रसार का अंग बना लिया। करोड़ों के ढांचागत कामों का जिक्र प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा सरकार के नेता कर रहे हैं, लेकिन गंगाजल की गुणवत्ता में कोई सुधार नहीं आया है, बल्कि उसकी गुणवत्ता और गिरती ही जा रही है। गंगा के नाम पर भाजपा सरकार ने सिर्फ चमक-दमक दिखाई है, गंगाजल की गुणवत्ता कैसे शुद्ध की जाएगी, इस पर शायद ही इस सरकार में कोई बात करता हो।
उन्होंने भाजपा सरकार को घेरते हुए कहा कि गंगा में क्या दोष है ? वह तो वैसे ही प्रवाहमान हैं, दिक्कत यह है कि जो गंदे नालों का पानी गंगा में जा रहा है, उसको रोकने के उपायों पर सख्ती नहीं हो रही है। सात साल मोदी सरकार के होने को हैं और पांच साल योगी सरकार के, लेकिन घाटों पर रंग-रोगन और गंगा के नाम पर पब्लिसिटी को छोड़ दिया जाए, तो गंगाजल की गुणवत्ता का हाल है यह कि घाटों पर भी गंगा आचमन के योग्य नहीं बची हैं।
आज प्रधानमंत्री मोदी, जिस गंगा सफाई अभियान का श्रेय ले रहे हैं, उसे 1986 में ‘‘गंगा कार्य योजना’’ का रूप देकर दिवंगत प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने अमली जामा पहनाया।‘‘पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने गंगा के अद्भुत महत्व को समझ कर ही ‘‘गंगा कार्य योजना’’ की शुरुआत साल 1986 में बनारस से ही की थी, लेकिन बाद की सरकारों ने योजनाओं का नाम बदलने और अवैज्ञानिक रास्तों पर चलने में दिलचस्पी ली।
उन्होंने कहा कि खुद को गंगा का कहने वाले प्रधानमंत्री ने गंगा के नाम पर वोट बटोरे लेकिन गंगा का जो सबसे बड़ा दु:ख उसकी गुणवत्ता है, उसे सुधारने के बजाय तबाह कर रहे हैं। इसका दुष्परिणाम हमारी आने वाली पीढिय़ां भुगतेंगी। पीएम मोदी ने गंगा के मूल स्वरूप को संरक्षित करने का संकल्प दोहराया था, जो थोथा साबित हो गया है। गंगा के पानी को रोके जाने से नदी में पहली बार काई दिखी, जिससे पानी का रंग हरा हो गया। इसका असर बनारस से लेकर मिर्जापुर तक है। काई के चलते नदी में घुलित ऑक्सीजन की मात्रा घटती जा रही है। बनारस के घाटों का हाल बेहाल है, सिर्फ बाहरी चमक दिखती है। घाटों पर मलबे पटे पड़े हैं, गंगा सफाई के नाम पर अनेक मूर्खतापूर्ण काम किये जा रहे हैं। बनारस में सरल प्रवाहित हो रही गंगा को विकास के नाम पर प्राइवेट एजेंसियों ने ‘‘हाईजैक’’ कर लिया है। यह सरकार लोगों को बरगलाकर गंगा सफाई के नाम पर गंगा के मूल रूप से खिलवाड़ कर रही है।

Nation Dialoguehttp://nationdialogue.com/
"NationDialogue.com" delivers the most trusted news from India and around the world. Impeccable coverage on society, politics, business, sports, and entertainment. We provide you with the latest breaking news and videos.
RELATED ARTICLES

कल बंद रहेंगे उत्तर प्रदेश के निजी स्कूल, आजमगढ़ में छात्रा की मौत बनी वजह

आजमगढ़ जिले में छात्रा की मौत मामले में एक निजी स्कूल की प्रिंसिपल और एक टीचर को गिरफ्तार किया गया है। जिसके कारण निजी...

551 करोड़ रुपये में बिका गाजियाबाद का शिप्रा मॉल, जिले में अब तक की सबसे महंगी रजिस्ट्री

इंदिरापुरम स्थित शिप्रा माल को 551 करोड़ रुपये में इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (आइएचएफएल) ने हिमरी एस्टेट प्राइवेट लिमिटेड को बेच दिया है। इसकी...

Ghaziabad: नगर निगम का बड़ा कदम, 43 करोड़ बकाया होने पर प्रतीक ग्रैंड सिटी सोसायटी सील

43 करोड़ से अधिक का संपत्ति कर बकाया होने पर नगर निगम ने सोमवार को गाजियाबाद के सिद्धार्थ विहार स्थित प्रतीक ग्रैंड सिटी...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

कल उत्तराखंड के 2 जिलों में स्कूलों की छुट्टी, मूसलाधार बारिश का अलर्ट

देहरादून: देहरादून के बाद हरिद्वार से एक बड़ी खबर है। एक तरफ भारी बारिश को देखते हुए देहरादून में कल अवकाश घोषित कर दिया...

सरकारी कार्यालयों में जेम GEM portal से रखे जाएंगे आउटसोर्स कर्मी, सभी वर्ग के युवाओं को मिलेगा नौकरी का मौका

प्रदेश में अब सरकारी विभागों व उनकी अधीनस्थ संस्थाओं में केंद्र सरकार की ओर से विकसित गवर्नमेंट ई-मार्केटप्लेस (जेम) के माध्यम से आउटसोर्स कर्मियों...

सनी देओल पर भारी पड़े अक्षय कुमार, जानें ऐसा अचानक क्या हो गया?

बॉलीवुड के दमदार एक्टर सनी देओल की फिल्म ‘गदर 2’ शुक्रवार को थिएटर्स में रिलीज हो चुकी है। इस फिल्म के साथ अक्षय कुमार...

सरकार ने बदली रणनीति-बड़ी परियोजना के लिए सरकार का अब केंद्र पोषित योजनाओं पर फोकस,

वाह्य सहायतित योजना के लिए सीलिंग तय होने के बाद अब राज्य सरकार को इन हजारों करोड़ की परियोजनाओं के बाहर होने का अंदेशा...

कल बंद रहेंगे उत्तर प्रदेश के निजी स्कूल, आजमगढ़ में छात्रा की मौत बनी वजह

आजमगढ़ जिले में छात्रा की मौत मामले में एक निजी स्कूल की प्रिंसिपल और एक टीचर को गिरफ्तार किया गया है। जिसके कारण निजी...

Rudraprayag Landslide में करीब 20 लोग लापता, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

कल उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग में भीषण लैंडस्लाइड हुआ था...लैंडस्लाइड के दौरान करीब 20 लोग लापता हो गए...जिनकी तलाश की जा रही है...रेस्क्यू ऑपरेशन जारी...

उत्तराखंड में जल्द होगी एएनएम के रिक्त 330 पदों की भर्ती,

स्वास्थ्य मंत्री डाॅ. धन सिंह रावत ने कहा कि राज्य के चिकित्सालयों में रिक्त चल रहे एएनएम के 330 पदों पर आउटसोर्सिंग के माध्यम...

होमगार्ड की मौत, गुरुग्राम तक पहुंची नूंह हिंसा की आग, धारा 144 लागू, सीएम ने की शांति की अपील

हरियाणा के मेवात के नूंह इलाके में सोमवार को धार्मिक हिंसा हुई. सोमवार दोपहर खबर आई कि मेवात में भगवा यात्रा के दौरान...

टिहरी डैम से बाढ़ में डूब जाएगा देवप्रयाग, ऋषिकेश और हरिद्वार? इस खतरे पर अधिकारी ने दी सफाई

टिहरी डैम से बाढ़ की आशंका पर टिहरी बांध परियोजना के अधिशासी निदेशक एलपी जोशी ने सफाई दी है. उन्होंने मैदानी क्षेत्रों के लोगों...

सीएम धामी पहुंचे दिल्ली, देहरादून में मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलें तेज, जानिए वजह

उत्तराखंड में एक बार फिर मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलें तेज हो गई है। एक माह में ​सीएम पुष्कर सिंह धामी की दो बार दिल्ली...